Wednesday, February 9, 2011

खोया खोया चाँद .....खुला आसमान ...आंखों में सारी रात जायेगी । एक खुबसूरत आवाज और वो भी रफी साहब की .....मन भरता ही नही क्या करे ।

1 comment:

pragya said...

beautiful.........